बाढ़ के दौरान पानी में डूबे गांवों का पुनर्वास किया जाएगा – पालकमंत्री चंद्रकांत पाटिल

Chandrakant Patil

कोल्हापुर : बाढ़ के दौरान पानी के नीचे गए गावों का नई जगह पर पुनर्वसन किया जाएगा, ऐसी घोषणा राजस्व तथा पालकमंत्री चंद्रकांत पाटिल ने आज की.

श्री.पाटील ने हातकणंगले तहसील के निलेवाडी, जुने पारगाव, नवे पारगाव इन बाढ़ प्रभावित गांवों का दौरा कर लोगों को राहत दिलाई. निलेवाडी में बाढ़ प्रभावित गांववासियों से चर्चा कर उनकी दिक्कते और समस्याएं जानी. इस समय उनके साथ विधायक सुजित मिणचेकर, गोकुल के संचालक बाबा देसाई, पी. डी. पाटिल, अजितसिंह काटकर, तहसीलदार सुधाकर भोसले, लोकनिर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता- सोनवणे समेत पदाधिकारी, अधिकारी उपस्थित थे.

निलेवाडी गांव 100 फीसदी बाढ़ प्रभावित है, यह गाँव पूर्णतया पानी के नीचे गया था ऐसा बताकर श्री पाटिल ने कहा कि निलेवाडी गांव में राजस्व तथा गायरान जगह खोजकर उस स्थान पर गांव का पुनर्वास किया जाएगा. सरकारी जगह उपलब्ध न होने पर निजी जगह उपलब्ध करवाने के प्रयास की जाएंगे, ऐसा उन्होंने बताया.

बाढ़ पीड़ितों को तत्काल मदद मिलनेपर महिलाओं ने जताया समाधान

बाढ़ पीड़ित निलेवाडी गाँव की महिलाओं ने प्रशासन द्वारा बाढ़ पीड़ितो को समयपर की गई मदद के लिए समाधान व्यक्त किया. लोगों को सुरक्षित जगह पर ले जाने के साथ ही उन्हें सुविधा उपलब्ध करवाई. साथ ही बाढ़ पीड़ित परिवारों को नगद 5 हजार रुपयों का अनुदान और 20 किलो अनाज तत्काल उपलब्ध करवाने पर महिलाओं ने समाधान व्यक्त किया. इस परिसर में बाढ़ पीड़ितों की मवेशियों के लिए पालकमंत्री श्री. पाटील ने बाढ़ के समय में खुद के खर्चे से चारा उपलब्ध करवाने की मुहिम चलाई थी, इसके लिए भी ग्रामवासियों ने समाधान व्यक्त किया.

बाढ़ प्रभावित ग्रामीण क्षेत्र के मकानों के लिए ढाई लाख रुपये तथा शहर के मकानों साडेतीन लाख रुपयों का आर्थिक देने का निर्णय सरकार द्वारा लिया गया है ऐसा बताकर पालकमंत्री ने कहा कि, बाढ़ के कारण ढह गए मकान निर्माण करने के साथ साथ ऐसे परिवारों के लिए 1 वर्ष के लिए हर महीने 2 हजार के रुप में 24 हजार रुपयों का किराया दिया जाएगा.

घबराएं नहीं, सरकार आपके साथ हमेशा है ऐसे शब्दों में राहत देकर पालकमंत्री ने कहा कि, बाढ़ पीड़ितों के लिए जो करना है वह निश्चित तौर पर किया जाएगा. बाढ़ के कारण क्षतिग्रत हुए है उन नागरिकों को मकान देने के साथ ही फसल कर्ज माफी, विद्यार्थियों को निशुल्क किताबें देना, छात्राओं को एसटी पास निशुल्क देना ऐसी कई सुविधाएं देने पर सरकार का जोर है. निलेवाडी गांव के लिए वारणा नदीपर ऐतवडे -निलेवाडी ऐसा पुल निर्माण करने के लिए तत्काल बजट तैयार करने के निर्देश भी पालकमंत्री चंद्रकांत पाटील ने दिए. बाढ़ से खराब हुए पुलों की निर्मिति के काम को प्राथमिकता के साथ हाथ में लेने और इस प्रक्रिया के लिए तीन दिनों का टेंडर निकालने के लिए भी सरकार द्वारा अनुमति दी जाने की जानकारी उन्होंने दी.

भेंडवडे में बाढ़ पीड़ितो के लिए मदद किट तथा बाढ़ पीड़ितों के मवेशियों के लिए चारे का वितरण भी पालकमंत्री के हाथों किया गया. इसके बाद पालकमंत्री श्री. पाटील ने खोची गांव जाकत बाढ़ पीड़ितों की समस्याएं सुनी. बाढ़ प्रभावितों के लिए सरकार द्वारा की जा रही मदद और उपाययोजनाओ की जानकारी दी.