321 गांवों के 81 हजार से अधिक परिवार के 3 लाख 36 हजार 297 नागरिकों का स्थलांतर – जिलाधिकारी दौलत देसाई

Daulat Desai

कोल्हापुर : बाढ़ के दिनों से अब तक जिले के 321 गांवों से 81 हजार 88 परिवार के 3 लाख 36 हजार 297 नागरिकों को सुरक्षित स्थान पर स्थलांतरित किया गया है। इस कार्य में 86 नाव और 497 जवान कार्यरत है, यह जानकारी जिलाधिकारी दौलत देसाई ने दी।

जिले के 321 गांवों से 81 हजार 88 परिवार के सुरक्षित स्थान पर स्थलांतरित किए गए 3 लाख 36 हजार 297 नागरिकों की तहसील के अनुरूप जानकारी इस तरह से है – शिरोल – 42 गांवों के 40 हजार 452 परिवार के 1 लाख 62 हजार 210 सदस्य, कागल – 35 गांवों के 1 हजार 848 परिवार के 8 हजार 192 सदस्य, राधानगरी – 21 गांवों के 746 परिवार के 3 हजार 615 सदस्य, गडहिंग्लज – 15 गांवों के 936 परिवार के 4 हजार 3 सदस्य, आजरा–24 गांवों के 97 परिवार के 374 सदस्य, भुदरगड –19 गांवों के 234 परिवार के 972 सदस्य, शाहुवाडी – 24 गांवों के 427 परिवार के 1 हजार 962 सदस्य, पन्हाला – 44 गांवों के 879 परिवार के 4 हजार 188 सदस्य, हातकणंगले – 23 गांवों के 21 हजार 329 परिवार के 93 हजार 608 सदस्य, करवीर – 55 गांवों के 8 हजार 227 परिवार के 33 हजार 315 सदस्य, गगनबावडा– 2 गांवों के 50 परिवार के 241 सदस्य, चंदगड – 16 गांवों के 222 परिवार के 1 हजार 284 सदस्य और महापालिका के माध्यम से 5 हजार 641 परिवार के 22 हजार 333 नागरिकों के सुरक्षित स्थान पर स्थलांतरित किया गया है।

इसके लिए शिरोल तहसील में 65 नाव और 385 कर्मचारी, करवीर तहसील में 3 नाव और 25 कर्मचारी, हातकणंगले तहसील के लिए 2 नाव और 15 कर्मचारी, महापालिका क्षेत्र में 8 नाव और 32 कर्मचारी, गडहिंग्लज के लिए 2 नाव और 10 कर्मचारी कार्यरत है। साथ ही आजरा और चंदगड तहसील को छोड़कर शेष तहसील के लिए प्रत्येकी एक नाव और 5 कर्मचारी नियुक्त किए गए है। इसमें लष्कर, नौदल, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, कोस्टल गार्ड, जिला प्रशासन, सामाजिक संस्था, महानगरपालिका, नगरपालिका का समावेश है।