पाक पायलट्स को राफेल उड़ाने की ट्रेनिंग; खबर गलत : फ्रांस

Rafeal

नई दिल्ली : फ्रांस में पाकिस्तानी पायलट्स को राफेल जेट उड़ाने की ट्रेनिंग दी गई है, यह यह समाचार गलत है ऐसा भारत स्थित फ्रांस के राजदूत अलेक्जेंड्रे जिग्लर ने कहा है।

इस बारे में प्राप्त जानकारी के अनुसार खाड़ी देश कतर ने भी फ्रांस की दसॉ कंपनी से राफेल विमान खरीदे थे। उसे फरवरी १९ में पहले जेट की डिलिवरी मिली। और अब खबर आई थी कि पाकिस्तान के ‘एक्सचेंज पायलट्स’ जो कतर की वायुसेना के साथ मिलकर काम कर रहे हैं; उन्हें फ्रांस में राफेल उड़ाने की ट्रेनिंग दी गई थी।

इस कारण पाकिस्तान, जिसने राफेल खरीदा ही नहीं, उसके फाइटर पायलट्स, भारत (जिसने राफेल खरीदा) के फाइटर पायलट्स से पहले राफेल उड़ाना सीख गए ! ऐसी चर्चा शुरू हुई।

इस बारे में प्रकाशित समाचार में कहा गया था कि, कतर के लिए राफेल उड़ाने वाले पायलट्स की पहली बॅच को नवंबर २०१७ में ट्रेनिंग दी गई थी। इस ट्रेनिंग में हिस्सा लेनेवाले पायलट्स को ‘पाकिस्तानी एक्सचेंज ऑफिसर्स’ बताया गया था।

फ्रांस ने कहा है कि यह खबर झूठ है। कतर ने फ्रांस की दसॉ कंपनी से २०१५ में २४ राफेल फाइटर जेट का सौदा किया था। इनमें से पहला जेट ६ फरवरी को कतर को सौंपा गया था।