2019 लोकसभा चुनाव: जीतने के लिए 1 करोड़ ‘बूथ सहयोगी’ बनाएगी कांग्रेस

To win 2019 general elections congress set target of making 1 crore booth level activists

नई दिल्ली: आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए आने वाले कुछ महीनों के भीतर कांग्रेस देश भर में एक करोड़ ‘बूथ सहयोगियों’ की फौज खड़ी करने का मन बना चुकी हैं। 13 सितंबर को कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की ओर से स्वीकृत कार्य योजना के तहत संगठन महासचिव अशोक गहलोत ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के वरिष्ठ पदाधिकारियों और प्रदेश अध्यक्षों को पत्र भेजा था। जिसमे उन्होंने लिखा था कि, वो हर बूथ पर कम से 10 ‘बूथ सहयोगी’ बनाने के लक्ष्य को पूरा करने में जुट जाएं।

अखिल भारतीय कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव (संगठन) जेडी सीलम ने इस बात की पुष्टि की है। उन्होंने कहा, ‘पार्टी ने यह तय किया है कि हर बूथ पर 10 ‘बूथ सहयोगी’ जोड़े जाएंगे। देश में करीब 10 लाख बूथ हैं और इस लिहाज से हमें एक करोड़ बूथ सहयोगी बनाने हैं।’ उन्होंने कहा कि ‘हमारी कोशिश है कि आगामी विधानसभा चुनावों से पहले बूथ सहयोगी बनाने का लक्ष्य हासिल कर लें।

गहलोत ने कहा कि वो जिला और ब्लॉक इकाइयों के साथ मिलकर ‘बूथ सहयोगी’ बनाएं और हर ‘बूथ सहयोगी’ को 20-25 घरों से संपर्क साधने की जिम्मेदारी भी सौंपें। पार्टी के हाईलेवल सूत्रों सूत्रों के अनुसार, राहुल गांधी के कैलाश मानसरोवर यात्रा पर रहने के दौरान 6 सितंबर को गहलोत और कांग्रेस के कोषाध्यक्ष अहमद पटेल ने प्रदेश इकाइयों के अध्यक्षों और कोषाध्यक्षों के साथ जो बैठक की थी उसमें एक प्रमुख फैसला ‘बूथ सहयोगियों’ की फौज तैयार करने की भी था। कैलाश यात्रा के लौटने के बाद राहुल गांधी ने इस योजना को मंजूरी प्रदान की।