मुंबई की भीड़ भरी सड़कों पर घंटों चला चोर-सिपाही का खेल

अंतत: धरे गए दोनों चोर

मुंबई : बीते मंगलवार की रात मुंबई की सड़क पर जो कुछ हुआ उसने देखने वाला हर एक शख्स दंग रह गया. धूम फिल्म के स्टाइल में एक शख्स की तेज रफ़्तार बोलेरो कार उस दिन मुंबई की सड़कों को रौंद रही थी, जिसे रोकने के लिए पुलिस की टीम के अलावा 22 बाईक सवार पीछे लगे हुए थे. करीब एक घंटे तक चले इस चोर-सिपाही के खेल में आख़िरकार बोलेरो चालक ओमप्रकाश बिश्नोई (22) और श्रवण कुमार बिश्नोई (22) को पकड़ लिया गया. जांच में पता चला कि दोनों शराब के नशे में थे और बोलेरो चोरी कर भाग रहे थे.

ताड़देव पुलिस के मुताबिक मंगलवार रात ओमप्रकाश और श्रवण ने मरीन लाइन्स स्टेशन परिसर के पास बने पार्किंग से बोलेरो कार चुराई. जल्द से जल्द मुंबई से बाहर ले जाने की फ़िराक में उन्होंने धूम फिल्म में तेज रफ़्तार बाईक की तर्ज पर बोलेरो भगाना शुरू किया. पर वे भूल गए कि साउथ मुंबई में रात के समय ट्रैफिक होती है और ऐसे में मुंबईकर हर उस वाहन चालक को नहीं बख्शते जो सड़क नियमों को तोड़ता है या फिर उन्हें परेशान करता है.

बोलेरो सहित भागते समय किसी शख्स ने उनकी जानकारी सिटी कंट्रोल रूम में दे दी. जिसके बाद पुलिस की टीम उन्हें रोकने के लिए पीछे लग गई. पुलिस को देखकर भी उन्होंने अपनी कार नहीं रोकी और भागते रहे. पीछा करती पुलिस को देख आसपास के बाईक चालक भी उन्हें रोकने में लग गए.

बोलेरो को अब तक रोकने में विफल इस पूरी टीम को सफलता ताड़देव इलाके में सोबो मॉल के पास मिली, जब पुलिस की नाकेबंदी में बिश्नोई बंधूओं ने अपनी कार गलत दिशा में डाल दी. फ़ौरन यू टर्न लेने के बाद दोनों फिर भागने लगे. नि:स्वार्थ भाव ने महज पुलिस की सहायता कर रहे बाईक सवारों ने सड़क पर मौजूद दूसरे वाहन चालकों को आगाह करते रहे कि वे पुलिस को जाने के लिए रास्ता छोड़ दें. साढ़े बारह बजे के करीब जब रतन टाटा कालोनी की सड़क पर उन्हें आगे जाने का मौका नहीं मिला तो रुक गए. जिसके बाद ओमप्रकाश और श्रवण को दबोच लिया गया. चूँकि बोलेरो कार मरीन लाइन्स से चुराई गई थी, इसलिए दोनों को स्थानीय आजाद मैदान पुलिस के हवाले कर दिया गया.