राज्य सभा में स्वामी ने पेश किया प्राइवेट बिल, गौहत्या पर सजा-ए-मौत की मांग

Swamy

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी से सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने राज्यसभा में प्राइवेट मेंबर मिल पेश किया। इस बिल में स्वामी ने गाय की हत्या करने पर मौत की सजा का प्रावधान करने की बात कही गई है। शुक्रवार को सदन में स्वामी ने गौ संरक्षण विधेयक 2017 पेश किया। इस विधेयक में कहा गया है कि गौहत्या पर बैन लगाने के लिए संविधान के अनुच्छेद 37 और 48 का अनुपालन किया जाए। बिल में स्वामी न कहा कि इसके लिए प्राधिकरण का गठन किया जाए।

शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के नेता नरेश गुजरात ने भी उत्पादकता में वृद्धि 2017 बिल पेश किया। जिसमें संसद में उत्पन्न हुए व्यवधान के कारण प्रोडक्टिविटी में आयी कमी कर विधिक ढांचे के माध्यम से रोक लगाने और उनका समाधान खोजने की बात की गई है। गुजराल के इस प्राइवेट बिल में एक वर्ष में संसद के सत्रों दिनों की न्यूनतम संख्या तय करने, तीन सत्रों (बजट, शीत और मानसून ) के अलावा अतिरिक्त सत्र शुरु करने की बात कही है। गुजराल के इस बिल पर सभापति कुरियन ने कहा कि सदन में व्यवधान ही नहीं पैदा होना चाहिए। कुरियन ने कहा कि पहले 100 दिन से ज्यादा सदन चलता था।