धार्मिक तनाव पैदा करने वाले यशस्वी – सुशीलकुमार शिंदे

Sushilkumar Shinde

सोलापुर : धार्मिक तनाव पैदा करने वाले यशस्वी हुए ऐसी प्रतिक्रिया पूर्व केंद्रीय मंत्री सुशीलकुमार शिंदे ने दी है। सोलापुर में भाजपा के सिद्धेश्वर स्वामी, कांग्रेस के सुशीलकुमार शिंदे और वंचित बहुजन समाज के प्रकाश आंबेडकर में त्रिकोणी लड़ाई शुरू थी। इस लड़ाई में सिद्देश्वर स्वामी ने जीत हासिल की है। कांग्रेस के सुशीलकुमार शिंदे इनकी यह लगातार दूसरी हार है। चुनाव के परिणाम के बाद जब वह सामने आए तब उन्होंने प्रसार माध्यम के जरिए कहा कि, धार्मिक तनाव पैदा करने वाले जीत गए। हार होने के बावजूद लोगो की सेवा हमेशा करते रहूँगा ऐसा भी सुशीलकुमार शिंदे ने कहा।

हमें यह स्वीकार करना होगा कि प्रकाश अंबेडकर के वंचित नेतृत्व के कारण हमें नुकसान उठाना पड़ रहा है। शुरू से ही वंचित बहुजन समाज का नुकसान हमे होगा लग रहा था। और ऐसा ही हुआ सुशीलकुमार शिंदे ने कहा। मुझे हार की उम्मीद नहीं थी। सुशीलकुमार शिंदे ने कहा है कि लोगों द्वारा दिए गए फैसले के आगे झुकाना ही चाहिए। सुशील कुमार शिंदे ने कहा है कि हमने सिद्धांतों को ध्यान में रखते हुए इस चुनाव का सामना किया है, लेकिन धर्म के आधार पर वोट मांगने में सफल रहे हैं।

2014 में भी सुशीलकुमार शिंदे की हार हुई थी। इस समय लग रहा था कि, उन्हें इस बार हार नहीं देखनी पड़ेगी। उन्होंने सिद्धेश्वर स्वामी को यह कहते हुए भी बधाई दी है कि वह लोगों के लिए स्वीकार्य हैं। सुशीलकुमार शिंदे ने एक समाचार चैनल को दिए एक साक्षात्कार में धार्मिक पगड़ी के दावों पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की।

सोलापुर पश्चिम भारत में महाराष्ट्र के पश्चिम महाराष्ट्र क्षेत्र में एक लोकसभा / संसदीय क्षेत्र है। इस अर्ध-शहरी अनुसूचित जाति निर्वाचन क्षेत्र की अनुमानित अनुसूचित जाति की आबादी 14.75% और अनुसूचित जनजाति की आबादी 2.38% है। सोलापुर का अनुमानित साक्षरता स्तर 77.68% है। 2019 के लोकसभा चुनावों में कुल पात्र मतदाता थे और मतदाताओं की गणना % पर की गई थी। यह सीट गुरुवार 18 अप्रैल, 2019 को चरण 2 में हुई।

यह भी पढ़ें : शर्मनाक हार के बाद कांग्रेस में इस्तीफ़े का सिलसिला शुरू