ग्रामपंचायतों को आर्थिक दृष्टि से सक्षम करने के लिए राज्यस्तरीय समिती – मुख्यमंत्री फडणवीस

CM Fadnavis

शिर्डी :- राज्य की ग्रामपंचायतों को आर्थिक दृष्टि से सक्षम करने के संदर्भ में उपाययोजनाएँ सुझाने के लिए राज्यस्तरीय समिति स्थापन की जाएगी और इस समिति की सिफारिशों के अनुसार उचित निर्णय लिए जाएंगे, ऐसा प्रतिपादन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने किया.

यहां के शेती महामंडल के मैदानपर ग्रामविकास विभाग और अखिल भारतीय सरपंच परिषद द्वारा आयोजित राज्यस्तरीय सरपंच और उपसरपंच की कार्यशाला परिषद के समापन अवसर पर वे बोल रहे थे. इस अवसर पर विधानसभा उपाध्यक्ष विजय औटी, ग्रामविकासमंत्री पंकजा मुंडे, गृहनिर्माणमंत्री राधाकृष्ण विखे पाटिल, पणन एवं वस्त्रोद्योगमंत्री तथा जिले के पालकमंत्री प्रा. राम शिंदे, ग्रामविकास राज्यमंत्री दादाजी भुसे, जिला परिषद की अध्यक्षा शालिनीताई विखे- पाटिल, सांसद सुजय विखे पाटील, पंचायत राज समिति के अध्यक्ष सुधीर पारवे, ग्रामविकास विभाग के प्रधान सचिव असीमकुमार गुप्ता, महाराष्ट्र राज्य ग्रामीण जीवनोन्नती अभियान की प्रमुख आर. विमला आदि उपस्थित थे.

श्री. फडणवीस ने कहा कि, चौदहवे वित्त आयोग का निधि सीधे ग्रामपंचायतों को मिलने के लिए और इसके संदर्भ में आवश्यक स्वायत्तता देने के लिए विचार किया जाएगा. जिला नियोजन समिति में सरपंच प्रतिनिधि को स्थान देने के संदर्भ में नियोजन विभाग से चर्चा की जाएगी. 15 वे वित्त आयोग के सामने सरपंचों का मत रखा जाने के लिए आयोग से बिनती की जाएगी. ग्रामविकास के लिए राज्य शासन कटिबद्ध है और उसके लिए राज्य की तिजोरी खुली रखकर गांवों के लिए आवश्यक योजनाएं पूर्ण करेंगे, ऐसा आश्वासन उन्होंने दिया.

मुख्यमंत्री ने कहा, देश के इतिहास में पहली बार सरकार और सरपंच एकत्रित आकर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कर रहा है. नागरिकों के भले का विचार और ग्रामविकास के लिए यह सरपंच परिषद ऐतिहासीक साबित होगी.

गांव बदलने का काम सरपंच और उपसरपंच कर रहे है. इसलिए उन्हें बल देने के लिए सीधे जनता से सरपंच चुनने का निर्णय सरकार ने लिया. इसलिए युवा, शिक्षित और महिला बड़े पैमाने पर गाँव का प्रतिनिधीत्व करते हुए दिखाई दे रहे है. इसलिए ग्रामविकास से संबंधित घटकों कर मानधन में बढ़ोतरी करने का निर्णत लिया है. साथ ही ग्रामपंचायत सदस्यों को भी बैठक भत्ता देने का निर्णय जल्द ही लिया जाएगा. इससे ग्रामविकास का रथ तेजी से आगे बढ़ेगा, ऐसा विश्वास उन्होंने व्यक्त किया.

इस समय मुख्यमंत्री फडणवीस के हाथों ‘माय आरडीडी’ एप का लोकार्पण किया गया. इसमे ग्रामविकास विभाग की योजना, जानकारी, अधिकारी-कर्मचारी के संपर्क क्रमांक, ग्रामपंचायत द्वारा वितरित निधि आदि की जानकारी होगी.

इस समय बोलते हुए ग्रामविकासमंत्री पंकजा मुंडे ने कहा, ग्रामविकास की सभी योजनाओं को प्रत्यक्ष रूप में लाने का श्रेय मुख्यमंत्री फडणवीस को जाता है. सत्ता हमारे लिए सेवा करने का साधन है. गाँव की ओर चलने का महात्मा गांधीजी का संदेश प्रत्यक्ष रूप में लाने का काम सरकार की ओर से किया जा रहा है. युवा औरउच्च शिक्षित सरपंचों की बढ़ती संख्या ग्रामविकास विभाग का चित्र है. पं.दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना के माध्यम से युवाओं को रोजगार देने का प्रयास ह्यो रहा है. सरपंच पद को प्रतिष्ठा देने का प्रयास किया जा रहा है, ऐसा श्रीमती मुंडे ने कहा.

ग्रामविकास राज्यमंत्री दादाजी भुसे ने कहा कि, सरकार की ओर से ग्रामविकास के लिए कई अच्छे निर्णय लिए है, ऐसी जानकारी दी. डिजीटल शाला,ग्रामपंचायत कार्यालयों को जगह, जनसहभागिता से कई शालाओं की दुरुस्ती, अतिक्रमण नियमित करने के निर्णय लिए गए है, ऐसा उन्होंने कहा.

प्रधानसचिव श्री. गुप्ता ने प्रस्ताविक में कार्यक्रम का प्रारूप और माय आरडीडी एप की जानकारी दी. इस कार्यक्रम में जिले के जनप्रतिनिधी विधायक स्नेहलता कोल्हे, शिवाजीराव कर्डिले, बालासाहेब मुरकुटे, मोनिका राजले, सुरेश धस, पूर्व मंत्री बबनराव पाचपुते, जिलाधिकारी राहुल द्विवेदी, जिला परिषदेचे मुख्य कार्यकारी अधिकारी विश्वजीत माने उपस्थित थे.

सुबह के सत्र में ग्रामविकासमंत्री पंकजा मुंडे के हाथों सरपंच परिषद का उद्धाटन किया. इसके बाद उपस्थित सरपंचों को विभिन्न विषयोंपर मार्गदर्शन किया.

Visitation of Sai Samadhi

 

मुख्यमंत्री फडणवीस ने लिया साई समाधि का दर्शन
मुख्यमंत्री फडणवीस ने सरपंच परिषद के समापन के बाद श्री साई समाधीचे दर्शन लिया. इस समय ग्रामविकास मंत्री पंकजा मुंडे, गृहनिर्माण मंत्री राधाकृष्ण विखे पाटिल, पणन एवं वस्त्रोद्योग मंत्री तथा जिले के पालकमंत्री प्रा. राम शिंदे, सांसद सुजय विखे पाटिल, साई संस्थान के अध्यक्ष सुरेश हावरे और मुख्य कार्यकारी अधिकारी दीपक मुगलीकर उपस्थित थे.

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का शिर्डी एअरपोर्ट पर प्रशासन की ओर से विभागीय आयुक्त राजाराम माने ने स्वागत किया. इस समय पुलिस महानिरीक्षक छोरिंग दोरजे, जिलाधिकारी राहुल द्विवेदी, पालकमंत्री प्रा. राम शिंदे, गृहनिर्माणमंत्री राधाकृष्ण विखे पाटिल, सांसद डॉ. सुजय विखे पाटिल, साईबाबा संस्थान विश्वस्त व्यवस्था के अध्यक्ष सुरेश हावरे आदि उपस्थित थे.