तमिलनाडु : पूर्व मुख्य सचिव के बेटे ने 17 करोड़ की बेनामी आय मानी

P Ram Mohan

चेन्नई : आयकर चोरी की जांच के मामले में घर, कार्यालय और रिश्तेदार से जुड़े अन्य परिसरों पर छापे के एक दिन बाद तामिलनाडु तेलंगणा पूर्व मुख्य सचिव पी. राम मोहन राव के बेटे विवेक ने करीब 17 करोड़ रुपए की बेनामी आय होने की बात स्वीकार की है. यह जानकारी आयकर अधिकारियों ने दी.

शीर्ष आयकर अधिकारी ने बताया कि विवेक ने कल उनके द्वारा पांच करोड़ रुपए के किए गए खुलासे सहित (करीब) 17 करोड़ रुपए बेनामी आय की बात स्वीकार की. उन्होंने कहा कि विवेक द्वारा आमदनी का खुलासा आयकर अधिकारियों द्वारा जमा किये गए सबूत की पृष्ठभूमि में तब आया, जब उन्होंने शेखर रेड्डी और उनके सहयोगियों से पूछताछ की, जिनके परिसरों से हाल में 135 करोड़ की नकदी और 177 किलोग्राम सोना जब्त किया गया था. विवेक से उनकी टिप्पणी के लिए संपर्क नहीं हो पाया.

राव की जगह शीर्ष पद पर अतिरिक्त मुख्य सचिव गिरिजा वैद्यनाथन को नया मुख्य सचिव बनाया गया. अधिकारी ने बताया इसी तरह दो व्यक्तियों के परिसरों में आयकर विभाग की जांच में दोनों ने बेहिसाबी धन होना स्वीकार किया. इसमें से एक पूर्व आईएफएस अधिकारी हैं, जिन्होंने राज्य के पर्यावरण असर आकलन प्राधिकरण का नेतृत्व किया. उन्होंने कहा कि पूर्व आईएफएस अधिकारी ने बेहासाबी धन- करीब 1.1 करोड़ रुपए की आमदनी, जबकि दूसरे व्यक्ति ने 1.75 करोड़ रुपए होने की बात कबूल की.