शिवसेना की ललकार विकास विजन अपने पास रखे भाजपा

Shiv Sena

मुंबई : मुंबई निकाय चुनाव की दौड़ में शिवसेना ने अपनी सहयोगी बीजेपी पर नया निशाना साधते हुए कहा कि वह ‘विकास विजन’ की बातें अपने तक सीमित रखे और दूसरों को उपदेश न दे। फिलहाल इस समृद्ध शहरी निकाय पर शिवसेना का नियंत्रण है।

शिवसेना ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की उस हालिया टिप्पणी को लेकर बीजेपी को निशाने पर लिया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि बृहन्मुंबई महानगरपालिका चुनाव के लिए गठबंधन तभी होगा, जब विकास को लेकर बीजेपी का विजन शिवसेना को स्वीकार्य होगा। इस पर शिवसेना ने कहा कि ‘कानून एवं व्यवस्था, भ्रष्टाचार और नोटबंदी के मामलों में बीजेपी का विजन विफल रहा है।’

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में छपे एक संपादकीय में कहा गया है कि कम से कम छत्रपति शिवाजी और शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे के महाराष्ट्र को ऐसे किसी विजन की जरूरत नहीं है। केंद्र के नोटबंदी के विजन ने वित्तीय अराजकता पैदा कर दी है और करोड़ों लोगों को बेरोजगार कर दिया है। कोई सरकार के सामने सवाल उठा रहा है तो उसे राष्ट्र-विरोधी करार दे दिया जा रहा है।

शिवसेना ने कहा कि पिछले सप्ताह नागपुर में (पत्रकारों के साथ) एक अनौपचारिक बातचीत में फडणवीस ने कहा था कि शिवसेना के साथ गठबंधन तभी होगा, जब वह बीजेपी के विकास विजन को स्वीकार करेगी। यदि यह बातचीत अनौपचारिक थी तो फिर इसका इतना अधिक प्रचार कैसे हो गया? बड़े-बड़े विजन की शेखी बघारकर काम करने के बीजेपी के तरीके से वाकिफ होने के कारण, हमें इस मुद्दे पर किसी स्पष्टीकरण की जरूरत नहीं है।

राज्य में अपराध की दर घटने के फडणवीस के दावे को लेकर उन पर तंज कसते हुए शिवसेना ने कहा कि नागपुर में ही 20 घंटे के भीतर चार हत्याओं के मामले दर्ज किए गए थे। मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी मुंबई-नागपुर एक्सप्रेस वे परियोजना पर निशाना साधते हुए शिवसेना ने कहा कि बीजेपी का विजन यह हो सकता है कि इस बड़ी योजना के चलते महामार्ग के आसपास के क्षेत्र समृद्ध बनेंगे और जमीन की कीमतें बढ़ेंगी।