सांगली जिला बैंक आयकर विभाग के निशाने पर, जांच शुरू

Sangli bank
File Image

सांगली : नोटाबंदी के निर्णय के बाद केवल 4 दिनों में जिला बैंक में 215 करोड़ रुपए जमा होने के बाद ही सांगली जिला बैंक आयकर विभाग के निशाने पर आ गया था. आयकर विभाग ने अब जिला मध्यवर्ती बैंक की शुरू कर दी है. आयकर विभाग के लगभग सात अधिकारी इस बैंक की शाखाओं की जांच कर रही है.

जिला मध्यवर्ती बैंक की कुल 218 शाखाओं में नोटाबंदी शुरू होने के चार दिनों में ही 215 करोड़ रुपए जमा हुए और बैंक की 29 शाखाओं में तो पहले चार दिनों में 1 करोड़ रुपयों से अधिक रकम जमा हुए. अब जिला मध्यवर्ती बैंक की 19 शाखाओं में नाबार्ड की जांच चल रही है. साथ ही आयकर विभाग की ओर से 29 शाखाओं की जांच की जांच रही है.

जिला बैंक अध्यक्ष दिलीप पाटिल ने कहा कि हमारे बैंक का व्यवहार पूर्णतः पारदर्शक है. उन्होंने कहा कि किसी भी खाते में 2 लाख से अधिक रकम नहीं है. न ही हमारे बैंक में कोई नकली खाता ही है. पाटिल ने कहा कि जांच में हम निर्दोष सिद्ध हो जाएंगे.