193 वस्तुओं पर कर की दर में कटौती – सुधीर मुनगंटीवार

sudhir

मुंबई :- वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) अधिनियम के अंतर्गत तीन चरणों में वस्तुओं के दरों में कमी कर दी गई है। इसमें 228 में से 193 वस्तुओं पर कर 28 प्रतिशत से घटाकर 18 प्रतिशत कर दिया गया है। 18 प्रतिशत और 12 प्रतिशत कर दर के स्लैब में कुछ वस्तुओं का कर दर और भी कम किया गया है और कुछ वस्तुओं पर कर माफी भी दी गई है, यह जानकारी वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने दी है।

जिन वस्तुओं पर कर दर 28 प्रतिशत 18 प्रतिशत इतना कमी किया गया है। इन वस्तुओं में मुख्य रूप से प्लाईवुड, वीनीयर पैनल्स, लैमिनेटेड लकड़ी, स्टोव (मिट्टी के तेल और एलपीजी स्टोव को छोड़कर), हाथ की घड़ी, पॉकेट और अन्य घड़ी, स्टॉप वॉच, फ्रीज, फ्रीजर, वॉटर कूलर, दूध का कूलर, रेफ्रिजरेटिंग या अत्यधिक ठंडा करने वाला उपकरण, वाशिंग मशीन, वैक्यूम क्लीनर, 68 से.मी तक टीवी, 32 इंच तक स्क्रीन वाला मॉनीटर जैसे वस्तुओं का समावेश है।

सिल बंद पानी (पैकेज्ड ड्रिंकिंग वॉटर), कंडेन्स्ड मिल्क, कृषि के लिए उपयोग में लाई जाने वाली मशीनरी, फॉरेस्ट्री या प्लांटिंग करने के लिए प्रयोग किए जाने वाले उपकरण के साथ-साथ लॉन या स्पोर्ट्स ग्राउंड रोलर्स, मुख्य कॉन्ट्रैक्टर द्वारा सब कॉन्ट्रैक्टर को दिये जाने वाले काम पर कॉन्ट्रैक्ट सर्विसेज का दर 18 प्रतिशत से घटाकर 12 प्रतिशत कर दिया गया है।

18 और 12 प्रतिशत की कर दरों के स्लैब में आने वाले कम्प्यूटर सॉफ्टवेअर, कॉम्पेक्ट डिस्क रीड-ओनली मेमोरी (सीडी-रॉम), रेकॉर्ड किया गया मैग्नेटिक टेप, माइक्रोफिल्मस, माइक्रोफिचस, घर में उपयोग किया जाने वाला एलपीजी गैस,1000 हजार रुपए प्रति जोडी कीमत वाले फूटवेअर जैसे वस्तुओं की कर दर को घटाकर करके पांच प्रतिशत कर दिया गया है।

इलेक्ट्रिक वाहन पर कर दर को 12 प्रतिशत से घटाकर करके पांच प्रतिशत कर दिया गया है। इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए लगने वाले चार्जर या चार्जिंग स्टेशनों पर कर दर को 18 प्रतिशत से घाटकरके पांच प्रतिशत कर दिया गया है। भारत सरकार द्वारा प्रायोजित धार्मिक तीर्थयात्रियों के लिए यात्री कर की दर पांच प्रतिशत (इनपुट सेवाओं पर आईटीसी के साथ) की गई है।

किसी भी भाषा के नाटक क्षेत्र में संगीत, नृत्य, नाटक, ऑर्केस्ट्रा, लोक या शास्त्रीय कला जैसे सभी नाटक के प्रस्तुतियों में प्रवेश के लिए टिकटों की कीमत पर जीएसटी दर की छूट की मर्यादा को 250 रुपये से बढ़ाकर 500 रुपये कर दिया गया है।

100 रुपए तक कीमत होने वाले सिनेमा टिकट पर कर का दर 18 प्रतिशत से 12 प्रतिशत कर दिया गया है, जबकि 100 रुपए से अधिक कीमत वाले सिनेमा टिकटों का कर दर 28 प्रतिशत से घटाकर 18 प्रतिशत कर दिया गया है। वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि महिलाओं के स्वास्थ्य और स्वच्छता के मद्देनजर सेनेटरी नैपकिन्स को कर मुक्त किया गया है। वित्त मंत्री ने विश्वास व्यक्त किया है कि कर में कटौती के कारण कर अनुपालन बढ़ेगा और इसके परिणामस्वरुप राजस्व में वृद्धि होगी। श्री मुनगंटीवार ने कहा कि कर की दर में कटौती से आम आदमी और व्यापार जगत को राहत मिलेगा।