राम मंदिर विवाद : मध्यस्थों के रिपोर्ट का १८ जुलाई तक इंतजार, अन्यथा २५ जुलाई से सुनवाई

New delhi

नई दिल्ली : आज रामजन्मभूमि और बाबरी मस्जिद के बीच भूमि विवाद के मुद्दे पर आज की सुनवाई। इस बीच, हमने विवाद को सुलझाने के लिए मध्यस्थों की एक समिति नियुक्त की है। शीर्ष अदालत ने कहा कि समिति अपनी रिपोर्ट देगी अन्यथा सुनवाई 25 जुलाई से शुरू होगी।

राम जन्म भूमि और बाबरी मस्जिद जमीन के विवाद पर गुरुवार को मतलब आज सुनवाई हुई। सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि, सुनवाई के दौरान इस विवाद को सुलझाने के लिए हमने मध्यस्थों की एक समिति नियुक्त की है। उन्होंने कहा कि,समिति अपनी रिपोर्ट देगी अन्यथा २५ जुलाई को सुनवाई की शुरुवात होगी। सर्वोच्च न्यायालय ने एक मध्यस्थ नियुक्त करने का फैसला लिया था। हालांकि, याचिकाकर्ताओं ने कहा कि कोई समाधान नहीं मिला जो मध्यस्थ की समिति द्वारा हल किया गया था। हालांकि, सर्वोच्च न्यायालय ने कहा है कि हम मध्यस्थता समिति की रिपोर्ट को सुनने के लिए १८ जुलाई तक इंतजार करेंगे फिर २५ जुलाई से सुनवाई की शुरुवात होगी।

सर्वोच्च न्यायालय ने कहा है कि मध्यस्थता समिति गुरुवार, १८ जुलाई तक अदालत के समक्ष मामले पर रिपोर्ट प्रस्तुत करे। यदि मध्यस्थ को रिपोर्ट प्रस्तुत करने के बाद संतोषजनक नहीं होने की सूचना दी जाती है, तो इस मुद्दे को २५ जुलाई के बाद रोजाना सुना जाएगा। इसका मतलब यह है कि १८ जुलाई को मध्यस्थों की समिति का फैसला किया जाएगा या नहीं।