किसानों की पत्नियां सड़क पर गिरी है क्या ? राजू शेट्टी का सीएम को प्रश्न

शिर्डी : भाजपा सरकार के राज्य में बैंक अधिकारियों को ज्यादा ही माज आया है। किसानों की पत्नियां सड़क पर गिरी है क्या ? अगर मुख्यमंत्री के घर की किसी महिला की तरफ बुरी नजर से देखा रहता तो क्या उसे दूसरे दिन जमानत मिल जाएगी ? ऐसा सवाल स्वाभिमानी किसान संघटना के नेता राजू शेट्टी ने मुख्यमंत्री से किया है।

राहुरी तालुका के टाकळीमिया में आयोजित किसान सभा में राजू शेट्टी बोल रहे थे।

बुलढाणा में फसल ऋण के लिए बैंक मैनेजर ने किसान की पत्नी के पास शारीरिक ख़ुशी की मांग की थी। इस मामले में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के मैनेजर राजेश हिवसे को गिरफ्तार किया गया था। और उन्हें अदालत ने एक दिन की पुलिस हिरासत में रखा था।

इस मामले से सांसद राजू शेट्टी ने आक्रामक पवित्रा लेकर सीधे मुख्यमंत्री को लक्षित किया।

राजू शेट्टी ने क्या कहा?

“भाजपा के राज्य में बैंक अधिकारियों को ज्यादा चरबी चढ़ी है। वे किसानों की पत्नियों की ओर बुरी नजर से देख रहे है। इतनी गंदी हरकतों के बावजूद भी उन बैंक अधिकारियो को एक दिन में जमानत कैसे मिलती है ? देवेंद्र फडणवीस अगर किसी ने आपके घर की महिलाओं की और ऐसे बुरी नजर से देखा होता, तो क्या उसे एक दिन में जमानत मिल जाती थी क्या ? आपका गृह विभाग क्या कर रहा है ? सारे सबूत रहने के बावजूद भी पुलिस ने इस मामले को अदालत के सामने पेश नहीं किया। ऐसा राजू शेट्टी ने कहा।

किसान पाकिस्तान से भी बदतर

यह सरकार किसानों को पाकिस्तान से भी बदतर समझती है। जब किसान को चार पैसे मिलते हैं, तब यह सरकार दुश्मन राष्ट्र के साथ हाथ मिलाती है और किसानों को मरने के लिए छोड़ देती है। क्या यही सरकार की देशभक्ति है? ऐसा प्रश्न राजू शेट्टी ने मोदी सरकार से पूछा है।