राज ठाकरे का दावा झूठा, गांव वालों ने एफबी लाइव कर किया दावा

Raj Thackeray claims false, villagers claim FB Live

अमरावती: पहला डिजिटल गाँव जिसे मोदी सरकार ने सराहा था विदर्भ के हरिसाल गाँव की वास्तविक स्तिथि दिखाने वाला वीडियो को प्रचार सभा में दिखाया। लेकिन इस वीडियो में दिखाया पक्ष गलत है और वीडियो झूठा होने का दावा हरिसाल गाँव के लोगो ने किया है. गाँव डिजिटल होने का सबूत देने के लिए गाँव के उप सरपंच ने फेसबुक लाइव कर के डिजिटल रूम दिखाई है.

अमरावती जिला के हरिसाल गाँव का वीडियो राज ठाकरे ने अपनी सभा में दिखाया था. यह वीडियो झूठा होने का दावा उपसरपंच गणेश महादेव येवले ने फसेबूक लाइव कर के किया है. येवले ने कहा ” राज ठाकरे ने हरिसाल गाँव की देश भर में बदनामी की है. हरिसाल गाँव के विषय में जो वीडियो दिखाया जा रहा है वह झूठा है.” उन्होंने कहा ” अगर गाँव में इंटरनेट नहीं था तो आज मई फेसबुक में लाइव बात कर सकता था क्या?.”

लाइव वीडियो में उन्होंने कहा ” हमारे गाँव के स्कूल में कंप्यूटर लैब दी गई है. यहाँ एचपी, माइक्रोसॉफ्ट जैसे कम्पनिंयो के कंप्यूटर यहाँ पहुंचे है. गाँव में इंटरनेट अच्छे से काम कर रहा है. उन्होंने कहा ” राज ठाकरे पुरे महाराष्ट्र में हरिसाल गाँव को बदनाम कर रहे है. अपने राजनितिक फायदे के लिए.”