पाकिस्तानी उच्चायोग के सामने विरोध प्रदर्शन

- सिख लड़की का अपहरण एवं धर्म परिवर्तन

Protests against the High Commission of Pakistan

पाकिस्तान में सिख लड़की को अगवा कर उसका जबरन धर्म परिवर्तन करवाने के खिलाफ भारत में जबर्दस्त गुस्सा है। आज भी भारी संख्या में लोग नई दिल्ली स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग के सामने प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों में देश के सभी वर्गों के लोग शामिल हैं।


नई दिल्ली : पाकिस्तान में सिख लड़की को अगवा कर उसका जबरन धर्म परिवर्तन करवाने के खिलाफ भारत में जबर्दस्त गुस्सा है। आज भी भारी संख्या में लोग नई दिल्ली स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग के सामने प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों में देश के सभी वर्गों के लोग शामिल हैं।

निदर्शक अपहृत सिख लड़की को उसके माता-पिता को सौंपने और पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की माँग कर रहे हैं। निदर्शकों ने उच्चायोग के सामने लगे बैरिकेड तोडकर पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के पुतले जलाए।

यह समाचार भी पढें : चंद्रयान-2 मॉड्यूल से लॅण्डर ‘विक्रम’ हुआ अलग

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में लड़की के परिजनों ने एक विडियो में आरोप लगाया कि एक ग्रंथी की किशोर बेटी का बंदूक के बल पर अपहरण कर धर्मांतरण कराकर एक मुस्लिम व्यक्ति से उसका निकाह कराया गया। लड़की की उम्र 18 वर्ष है। सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव के जन्मस्थल ननकाना साहिब में भी सिख समुदाय के लोगों ने इस घटना को लेकर विरोध प्रदर्शन किया।

भारत सरकार ने भी इसकी कड़ी निंदा की। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर कहा, ‘सिविल सोसायटी और भारत के लोग पाकिस्तान में दो सिख लड़कियों के अपहरण, जबरन धर्मांतरण और निकाह की हाल की निंदनीय घटनाओं की कड़े शब्दों में निंदा करते हैं। हमनें पाकिस्तान को अपनी चिंताओं से अवगत करा दिया है और तत्काल उपचारात्मक कार्रवाई करने को कहा है।’