चुनाव से पहले फेक न्यूज़ फैला रहे हैं राजनीतिक दल: व्हाट्सएप्प

Political parties are spreading fek news before elections-Whatsapp

नई दिल्ली: सोशल मीडिया मेसेंजर एप्प व्हाट्सएप्प ने राजनितिक पार्टी पर बड़ा आरोप लगाया है. व्हाट्सऐप ने दावा किया है कि ‘ लोकसभा चुनाव से पहले राजनीतिक पार्टियां इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए फेक न्यूज़ फैलाए का इस्तेमाल कर रही है.”

व्हाट्सऐप ने किसी पार्टी का नाम बताने से इनकार कर दिया है. कंपनी के मुताबिक, पार्टी के कार्यकर्ता वोटरों को रिझाने के लिए बड़े पैमाने पर मैसेज भेज रहे हैं, जिसमें कई तरह के फेक न्यूज़ होते हैं.

पिछले कुछ समय से व्हाट्सऐप चुनाव में प्रचार का बड़ा माध्यम बन गया है. बीजेपी और कांग्रेस पार्टी व्हाट्सएप का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल करती है. दोनों पार्टियां एक दूसरे पर इसके जरिए फेक न्यूज़ फैलाने का आरोप लगाती रही है.

गौरतलब है कि भारत में करीब 20 करोड़ लोग व्हाट्सऐप का इस्तेमाल करते हैं. पिछले साल राजस्थान और मध्य प्रदेश में चुनाव के दौरान राजनीतिक दलों ने दर्जनों ग्रुप बना कर व्हाट्सऐप का जम कर इस्तेमाल किया था. पिछले कुछ समय से व्हाट्सऐप फेक न्यूज़ के खिलाफ अभियान भी चला रहा है. इसको लेकर रोड शो और मीडिया में विज्ञापन दिए जा रहे हैं. व्हाट्सऐप का दावा है कि बल्क मैसेज भेजने के चलते हर महीने दुनिया भर में 40 लाख अकाउंट को बैन किया जाता है.