जया पर विवादित टिप्पणी पर आजम को महिला आयोग का नोटिस

Notice of Women Commission to Azam on disputed comment on Jaya

रामपुर : भारतीय जनता पार्टी की उम्मीदवार जयाप्रदा पर समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान द्वारा की गई विवादित टिप्पणी पर महिला आयोग ने केस दर्ज किया है। महिला आयोग ने अमर्यादित टिप्पणी पर केस दर्ज आजम खान को नोटिस भेजा हैं।

दरअसल, रविवार को आयोजित एक रैली में आजम खान ने मर्यादा का उलंघन करके भाजपा की प्रत्याशी जयाप्रदा पर विवादित टिप्पणी की थी। जया प्रदा का नाम लिए बगैर आजम ने रविवार को रामपुर की एक जनसभा में मौजूद लोगों से पूछा, ‘क्या राजनीति इतनी गिर जाएगी कि १० साल जिसने रामपुर वालों का खून पिया, जिसे उंगली पकड़कर हम रामपुर में लेकर आए, उसने हमारे ऊपर क्या-क्या इल्जाम नहीं लगाए। क्या आप उसे वोट देंगे?’ आजम ने आगे कहा कि आपने १० साल जिनसे अपना प्रतिनिधित्व कराया, उसकी असलियत समझने में आपको १७ साल लगे, मैं १७ दिन में पहचान गया कि इनके नीचे का अंडरवेअर खाकी रंग का है। जिसके बाद से यह विवाद बढ़ता ही जा रहा है।

इस विवादित टिप्पणी पर अन्य पक्षों से केवल आलोचनाएं ही आ रही है। उनकी इस हरकत के बाद महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने उन्हें नोटिस भेजा है और आईपीसी धारा ५०९ और लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा की धारा १२५ के तहत आजम के खिलाफ रामपुर के शाहबाद थाने में केस दर्ज किया गया है। महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा कि, वह हमेशा महिलाओं के बारे में गंदी बात करते हैं, इस चुनाव में यह दूसरी टिप्पणी है, जो उन्होंने की है।

आजम का नामांकन रद्द करने की मांग

आजम खान की इस हरकत से आहत हुई जयाप्रदा ने भी इस पर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि, “आजम खान साहब को यह आदत है। आदत से मजबूर हैं। अगर वह यह नहीं करते, तो नई बात होती। लेकिन बात यह है कि इनका स्तर कितना गिर गया है। यह सुधरेंगे नहीं। अब मेरे लिए वह भाई नहीं हैं। इनका चुनाव रद्द करना चाहिए।”

आजम द्वारा दिए गए निंदनीय बयान पर कांग्रेस से लेकर भाजपा और अन्य पक्ष ने कहा है कि, समाजवादी पार्टी को इस मामले में कारवाही करनी चाहिए और आजम खान के खिलाफ कड़क निणर्य करना चाहिए।

आजम खान की सफाई

आजम खान ने अपनी सफाई में कहा कि उनकी बात को गलत तरीके से पेश किया गया है। उन्होंने कहा कि बयान में किसी का नाम नहीं लिया गया, अगर वह दोषी साबित होंगे तो चुनाव नहीं लड़ेंगे। आजम खान ने कहा कि मैं रामपुर से नौ बार विधायक रहा हूं, इतना मुझे पता है क्या कहना है, अगर कोई यह साबित कर दे कि मैंने किसी नाम लिया और उसपर टिप्पणी की, तो मैं चुनाव से हाथ पीछे कर लूंगा।