इनामी नक्सली सुधाकरण ने पत्‍नी सहित किया आत्मसमर्पण

Naxalite Sudhakaran surrendered with wife

रांची: एक ऐसा नक्सली जिसने 3 राज्यों छत्तीसगढ़, आंध्रप्रदेश और झारखंड की पुलिस की नींद उड़ा रखी थी और उस पर एक करोड़ इनाम भी था उसने आत्मसमर्पण कर दिया हैं। नक्सली सुधाकरण ने अपनी पत्नी के साथ तेलंगाना पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। इनके साथ आठ अन्य नक्सलियों के हथियार डालने की सूचना है। सुधाकरण तेलंगाना के ही अदिलाबाद का रहने वाला है। लेकिन अब तक तेलंगाना पुलिस की ओर से कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। सुधाकरण की पत्नी माध्वी उर्फ नीलिमा रेड्डी पश्चिम बस्तर डिवीजन की सचिव रह चुकी है। वहीं सुधाकरण मिल्ट्री कमिशन का प्रमुख रह चुका है। बताया जाता है कि दोनों ने काफी वक्त छत्तीसगढ़ के बस्तर के जंगलों में भी गुजारा है।

पूर्व में बूढ़ा पहाड़ पर सेंट्रल कमेटी सदस्य अरविंद जी की मौत के बाद उक्त क्षेत्र की कमान सुधाकरण के पास ही थी। सुधाकरण की किसी बड़े मामले में सीधी भूमिका तो नहीं होती थी, लेकिन वह माओवादियों का थिंक टैक था। फंड इकट्ठा करने की जिम्मेदारी उसी की थी। जानकारी के अनुसार, तेलंगाना पुलिस आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों को जेल नहीं भेजती है और उक्त नक्सली पर दर्ज मामलों को वापस ले लेती है। इसी लाभ को देखते हुए अपनी बीमार पत्नी नीलिमा के कहने पर सुधाकरण ने तेलंगाना में आत्मसमर्पण कर दिया।