अब नासिक में सोमवार होगा ‘नो हॉर्न दिवस’

नासिक : शहर में बढ़ रहे शोरगुल को कम करने के लिए नासिक पुलिस प्रयासरत है. जिससे अब नासिकवासियों को हर सोमवार हॉर्न ना बजाने की हिदायत स्थानीय पुलिस ने दी है. नासिक पुलिस आयुक्त रविंद्र कुमार सिंगल ने नागरिकों से अपील की है कि हम सप्ताह के एक दिन ‘नो हॉर्न दिवस’ के रूप में मनायेगें.

शहर में इन दिनों बाइक में प्रेशर हॉर्न लगवाने का चलन जोरों पर है. युवाओं की मौज-मस्ती और शौक ने लोगों को परेशान कर रखा है. शहर के व्यस्ततम मार्ग पर तेज रफ्तार से बाइक दौड़ाते और प्रेशर हॉर्न बजाते हुए युवा वर्ग सहज ही देखे जा सकते हैं. हद तो उस समय हो जाती है कि जब नाबालिग जिनके पैर वाहन से जमीन तक भी नहीं पहुंचते हैं, वे भी तेज रफ्तार से बाइक दौड़ाते निकलते रहते हैं. वहीं वाहन में टेप भी लगाकर तेज आवाज में गाने बजाते हुए भी निकलते हैं. इन हॉर्न से निकलने वाली ध्वनि की तीव्रता शोर की सुरक्षित सीमा से दो गुना हो रही है.

वहीं ट्रैफिक पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं करने से वाहन चालकों के हौंसले बुलंद हैं. शहर में बढ़ते ध्वनि प्रदूषण से बुर्जुग व बच्चों पर विपरीत असर पड़ता है. पुलिस लाइसेंस, हेलमेट जैसे मामलों में तो कार्रवाई करती है, लेकिन प्रेशर हॉर्न के संबंध में वह खामोश ही रहती है. जिले में ज्यादातर स्टाइलिश बाइक पर प्रेशर हॉर्न लग रहे हैं. तेज रफ्तार के साथ प्रेशर हार्न से लोग चौंक पड़ते हैं.
इन समस्याओं पर लगाम लगाने के लिए नासिक पुलिस ने एक कदम उठाया है.