प्रधानमंत्री की पोल क्यों नहीं खोल रहे राहुल

केजरीवाल ने पूछा

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को चुनौती देते हुए कहा कि अगर उनके पास दस्तावेज हैं तो वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘‘बेनकाब’’ करें. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भाजपा इस तरह का ‘‘दोस्ताना मुकाबला’’ तो करते हैं लेकिन कभी कोई खुलासा नहीं करते.

केजरीवाल ने कई ट्वीट किए जिनमें से एक में लिखा, ‘‘अगर राहुल गांधी के पास वास्तव में ऐसे दस्तावेज हैं जो भ्रष्टाचार में मोदीजी की निजी लिप्तता साबित करते हों तो वह संसद के बाहर इनका खुलासा क्यों नहीं करते ?’’ उन्होंने आगे लिखा, ‘‘यह दोस्ताना मुकाबला है- भाजपा कहती है कि अगस्ता वेस्टलैंड मामले में उनके पास कांग्रेस के खिलाफ सबूत हैं और कांग्रेस कहती है कि सहारा-बिड़ला मामले में उनके पास भाजपा के खिलाफ सबूत हैं, लेकिन दोनों ही इनका खुलासा नहीं करते.’’

केजरीवाल राहुल की उस टिप्पणी पर प्रतिक्रिया दे रहे थे, जिसमें उन्होंने कहा था कि उनके पास मोदी के ‘‘व्यक्तिगत भ्रष्टाचार’’ की जानकारी है, जिसकी विस्तृत जानकारी वह लोकसभा में रखना चाहते हैं, लेकिन प्रधानमंत्री उन्हें ऐसा नहीं करने दे रहे. नोटबंदी के मुद्दे पर केजरीवाल ने कहा कि कारोबारी भाजपा से नाराज हैं.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ देश के कारोबारी कह रहे हैं कि भाजपा धन हमसे लेती है, वोट हमसे लेती है और हमें ही चोर कहती है? असल चोर तो प्रधानमंत्री के साथ भोजन का आनंद लेता है.’’ आप नेता आशीष खेतान ने ट्वीट किया, ‘‘अगर राहुल गांधी को सदन के भीतर बोलने नहीं दिया जा रहा तो उन्हें बाहर बोलना चाहिए और मोदीजी के बारे में जानकारी का खुलासा करना चाहिए.’’

संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने राहुल के आरोपों को ‘‘झूठा और निराधार’’ तथा ‘‘बेहद दुर्भाग्यपूर्ण’’ बताते हुए खारिज कर दिया. उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘आरोप हताशा में आकर लगाए गए हैं और उन्हें देश से माफी मांगनी चाहिए.’’