बॉम्बे मर्कंटाइल बैंक के डायरेक्टर ज़ीशान मेंहदी समेत 3 लोगों के खिलाफ़ धोखाधड़ी का मामला दर्ज

कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

लखनऊ: बॉम्बे मर्कंटाइल बैंक का फर्जीवाड़ा उजागर हो जाने के बाद बॉम्बे मर्कंटाइल बैंक के निदेशक जिशान मेंहदी समेत कुल तीन लोगों के खिलाफ लखनऊ के कैसर बाग पुलिस थाने में लाखों रुपए की धोखाधड़ी और फर्जी दस्तावेजों का उपयोग कर फर्जी अकाउंट खोलने और आरबीआई के नियमों का उल्लघन करने के मामले में कुल 8 गंभीर धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज किया है.

बैंक डायरेक्टर मेंहदी के साथ साथ तत्कालीन बॉम्बे मर्कंटाइल कैसरबाग शाखा के प्रबन्धक निहाल मुर्तुजा और अरशद खान नाम के दूसरे पार्टनर के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है.

थाना अध्यक्ष कैसर बाग़ पुलिस थाने एस कुमार साहिल ने बताया कि हमने मामला दर्ज किया है अब तक किसी की गिरफ़्तारी नहीं हो पाई हम मामले की बारीकी से छान बीन कर रहे.

बिलाल अहमद ने अपनी शिकायत में बताया कि साल 2009 में उन्होंने जीशान मेंहदी और अरशद खान के साथ स्टील इंडिया नाम कंपनी खोली थी, जिसका अकाउंट लखनऊ स्थित बॉम्बे मर्कंटाइल बैंक में खोला गया था. लेकिन 2015 में कंपनी बंद हो गई जिसके बाद बिलाल के हिस्से के 25 लाख रुपए के शेयर उन्हें मिलना बाकी था. इस दौरान बॉम्बे मर्कंटाइल बैंक में जीशान मेंहदी डायरेक्टर बन गए और स्टील इंडिया नाम की कंपनी का एक दूसरा फर्ज़ी अकाउंट बॉम्बे मर्कंटाइल बैंक की लखनऊ स्थित कैसरबाग शाखा में खोला और 25 लाख के शेयर की रकम को उस खाते में मंगाया और उसे अपने सेविंग अकाउंट में ट्रांस्फर कर लिया.

इस पूरी घटना की जानकारी शिकायतकर्ता ने एसपी लखनऊ मंजिल सैनी को को दी जिसके बाद मामला दर्ज किया गया. चूंकि उस दौरान बॉम्बे मर्कंटाइल बैंक कैसर बाग शाखा के प्रबन्धक निहाल मुर्तुज़ा की मिली भगत से फ़र्ज़ी दस्तावेजों के आधार पर स्टील इंडिया कंपनी का अकाउंट खोला गया था, इसलिए उनके खिलाफ़ भी मामला दर्ज हुआ है.

‘महाराष्ट्र टुडे’ ने इस से पहले बॉम्बे मर्कंटाइल बैंक में मौजूद डायरेक्टर और दूसरे लोगों पर दर्ज अपराधिक मामलों से आवगत कराया और बैंक के दीवालिया होने की ख़बर प्रकाशित की थी. साथ में बैंक के डायरेक्टर जीशान मेंहदी द्वारा आरबीआई के नियमों की किस तरह से बैंकों में धज्जियां उड़ाई जा रही हैं, यह जानकारी भी दी थी. खबर प्रकाशित होने के बाद बैंक में चल रहे भ्रष्टाचार को लेकर ‘महाराष्ट्र टुडे’ को लगातार फोन आरहे हैं. अब लोगों की निगाहें पुलिस पर टिकी हुई हैं कि आखिर पुलिस इन लोगों को कब गिरफ्तार करेगी.