अरविंद केजरीवाल और एलजी के बीच जंग ,सरेआम फाड़ीएलजी कमेटी की रिपोर्ट्स

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल बीच में जंग छिड़ गई हैं. हाल ही में जब केजरीवाल ने सरेआम उपराज्यपाल द्वारा बनाई कमेटी की रिपोर्ट फाड़ दी। यह रिपोर्ट राजधानी दिल्ली में सीसीटीवी कैमरे लगाने को लेकर सुझाव देने के लिए तैयार की गई थी।केजरीवाल द्वारा रिपोर्ट फाड़े जाने का वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है।

इंदिरा गांधी स्टेडियम में आयोजित सम्मेलन में केजरीवाल ने एलजी को चुनौती देते हुए कहा कि लोगों की सुरक्षा के लिए लगाए जा रहे सीसीटीवी कैमरों के बारे में कोई भी निर्णय लेने का अधिकार सिर्फ दिल्ली की जनता के पास है। इसमें एलजी, दिल्ली पुलिस और भाजपा वालों का कोई काम नहीं है।

सीसीटीवी कैमरे लगाने कि योजना के तहत 70 विधानसभा क्षेत्रों में 1.40 लाख सीसीटीवी कैमरे लगेंगे। एक विधानसभा क्षेत्र में 2000 कैमरे लगेंगे। कैमरे और इनका सर्वर 2जी, 3जी व 4जी तथा जीपीआरएस से जुड़ा होगा। इनमें 30 दिन की रिकॉर्डिग होगी। कोई खराबी आने पर सूचना अपने आप रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष और लोक निर्माण विभाग के इंजीनियर के पास पहुंच जाएगी

सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए लोगों की राय जानने को आयोजित इस कार्यक्रम में सीएम ने कहा कि महिलाएं सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। हम तीन साल से इस योजना को लागू करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन हमें काम नहीं करने दिया जा रहा। एलजी द्वारा गठित कमेटी की रिपोर्ट दिखाते हुए केजरीवाल ने कहा कि इसमें लिखा गया है कि सीसीटीवी लगाने के लिए पुलिस से लाइसेंस लेना पड़ेगा। पुलिस से हथियारों के लाइसेंस तो दिए नहीं जाते, सीसीटीवी कैमरे के लाइसेंस कैसे देगी।