जिस प्रदेश अध्यक्ष की दिल्ली में नहीं सुनते, तो मै कैसे सुनु?: अब्दुल सत्तार

1sattar_20Chavan

औरंगाबाद : कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले पूर्व मंत्री अब्दुल सत्तार ने शनिवार को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस से मुलाकात की है. जिसके बाद उनके भाजपा में जाने की चर्चा शुरू होगई है. वही कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चौहान पर निशाना साधते हुए अब्दुल सत्तार ने कहा ” जिस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष की दिल्ली में कोई सुनता नहीं उसकी मै कैसे सुनु?. “

मुख्यमंत्री से मुलाकात पर बोलते हुए कहा ” मै किसी भी पार्टी में नहीं जाने वाला हूँ. पिछले दिनों मुख्यमंत्री ने जो मदद की है उसके लिए धन्यवाद देने के लिए उनसे मुलाकात की है. उन्होंने कहा ” मै सभी दलों के नेताओं को धन्यवाद दुगा और उनका आशीर्वाद लेने लुगा.”

वही अशोक चौहान की भूमिका पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा ” अशोक चौहान पर मुझे कोई टिप्पणी नहीं करनी, मै उनको धन्यवाद देता हु. नेताओं के विरोध में बोलना उनके मुँह से बोलना अच्छा नहीं है. उन्होंने कहा ” मैंने औरंगाबाद सीट की मांग की थी, मुझे जालना लोकसभा सीट से कांग्रेस उतारना चाहती थी.”

सत्तार ने कहा ” ३६ साल तक कांग्रेस के लिए काम किया पर मुझे न्याय मिलने की टिस है. जिसके बाद मै जनता के दरबार में जाके न्याय मांगने वाला हु. उन्होंने कहा “ चुनाव के क्या करुगा किस दल में जाउगा कह नहीं सकता. अभी तो निर्दलीय लडूगा. आने वाले विधानसभा चुनाव में सिल्लोड सीट से निर्दलीय उम्मीदवार उतारने की भी घोषणा की है.

गौरतलब है कि अब्दुल सत्तार ने कांग्रेस से औरंगाबाद लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की इक्छा व्यक्त की थी. वही कांग्रेस ने विधायक सुभास झाबड़ को औरंगाबाद से टिकिट देने से वह नाराज होगये. उन्होंने शुक्रवार को जिलाध्यक्ष और विधायक पद से इस्तीफा देदिया था.