राज्य के चार जिलों में बनेंगे ओबीसी छात्राओं के लिए छात्रावास

Mantralaya

मुंबई :- राज्य के नागपुर, अहमदनगर, यवतमाल और वाशीम इन चार जिलों में ओबीसी छात्राओं के लिए सरकारी छात्रावास की निर्मिति के प्रस्तावकों मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मंजूरी प्रदान की है. राज्य में ओबीसी प्रवर्ग के विद्यार्थियों के लिए कुल 36 सरकारी छात्रावासों की निर्मिति होगी, इसमें से पहले चरण में यह चार छात्रावास निर्माण किए जाएंगे.

राज्य के पिछड़े घटकों के विकास के लिए सरकार प्रयासरत है. अन्य पिछड़े वेग में समावेशित विभिन्न समाज घटकों के ग्रामीण क्षेत्रों में रहनेवाले विद्यार्थी शिक्षा के प्रवाह में रहे. उन्हें उच्च शिक्षा लेते समय निवास के लिए दिक्कते न हो, इसके लिए यह छात्रावास निर्माण करने का निर्णय लिया गया है. इसके अनुसार जिलों के स्थान पर मांग के अनुसार ओबीसी लड़को के लिए 18 और लड़कियों के लिए 18 ऐसे कुल 36 सरकारी छात्रावास जिला स्तरपर निर्माण करने की घोषणा की गई थी. इसपर तत्काल अमल कर छात्रावास निर्माण करने के लिए जिलों में सरकारी जमीन ढूंढकर इस संदर्भ में प्रस्ताव मांगे गए थे. इसके अनुसार नागपुर, अहमदनगर, वाशीम और यवतमाल आदि जिलों से मंत्रालय में प्रस्ताव आते ही पहले चरण में लड़कियों के लिए इन चार छात्रावासों को मंजूरी प्रदान की गई है.

इसके अंतर्गत नागपुर जिले के ‍हिंगणा तहसील के वानाडोंगरी में 500 छात्राओं के लिए छात्रावास निर्माण किया जाएगा. साथ ही वडगाव गुप्ता (अहमदनगर), उमरसरा (यवतमाल) और वाशिम शहर में 100- 100 छात्राओं की क्षमता के छात्रावास का निर्माण किया जाएगा. इसके लिए केंद्र सरकार की ओर से बाबू जगजीवनराम छात्र आवास योजना के अंतर्गत ओबीसी प्रवर्ग के छात्रों के छात्रावास की निर्मिति के लिए 60 प्रतिशत और छात्राओं के छात्रावास के लिए 90 प्रतिशत अनुदान दिया जाता है. इसके अंतर्गत 100 विद्यार्थी क्षमता के छात्रावास की निर्मिति के लिए 3 करोड़ रुपये दिए जाते हैं. चार जिलों के छात्रावास की निर्मिति के लिए राज्य सरकार की भागीदारी देने के लिए भी मुख्यमंत्री ने मंजूरी प्रदान की गई है.

आगामी समय में राज्य के बाकी जिलों में भी ओबीसी प्रवर्ग के विद्यार्थियों के लिए छात्रावास निर्माण करने के लिए अपना विभाग प्रयासरत है, ऐसी जानकारी विभाग के मंत्री डॉ. संजय कुटे ने दी है.

यह समाचार भी पढें : सरपंचों के सक्षमीकरण के लिए पांच वर्षों में विभिन्न निर्णय