विविध विकास कामों का मुख्यमंत्री के हाथों शुभारंभ बीड के विकास के लिए सरकार कटिबद्ध

Hon CM at Beed Vikaskame Inauguration 1

बीड : देश स्तर पर बीड जिले को पहचान दिलानेवाले स्व. गोपीनाथ मुंडे के जिले को सरकार की ओर से बड़े पैमाने पर निधि दिया गया है. इससे आगे भी बीड शहर और जिले के विकास के लिए सरकार कटिबद्ध है, ऐसा प्रतिपादन राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने आज किया.

शहर के मल्टीपर्पज क्रीड़ांगन में भुयारी गटर योजना, निवारा गृह, नगरोत्थान अंतर्गत सीमेंट सड़क, प्रधानमंत्री घरकुल योजना के अंतर्गत 448 घरों की निर्मिति और सभागार का नामकरण ऐसे पांच विभिन्न विकास कामों का शुभारंभ एवं लोकार्पण श्री. फडणवीस के हाथों हुआ. इस कार्यक्रम के अध्यक्षस्थान पर पालकमंत्री तथा ग्रामविकास मंत्री पंकजा मुंडे थीं. इस अवसर पर विधायक जयदत्त क्षीरसागर, अण्णासाहेब पाटिल आर्थिक विकास महामंडल के अध्यक्ष नरेंद्र पाटिल, विधायक सुरेश धस, विक्रम काले, आर.टी,देशमुख, भीमराव धोंडे, पूर्व विधायक बदामराव पंडित, साहेबराव दरेकर, नगराध्यक्ष डॉ. भारतभूषण क्षीरसागर, पद्मश्री डॉ. वामन केंद्रे, सय्यद शब्बीर, विभागीय आयुक्त डॉ. पुरुषोत्तम भापकर, जिलाधिकारी एम.डी.सिंह, जि. प. के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमोल येडगे, जिला पुलिस अधीक्षक जी. श्रीधर, कुश्तिगिर राहुल आवारे, क्रिकेटर सचिन धस उपस्थित थे.

मुख्यमंत्री ने कहा, नगर पालिका ने स्व. गोपीनाथ मुंडे का नाम सभागार को दिया, यह आनंदमयी बात है. इस जिले के विकास के लिए स्व. गोपीनाथ मुंडे नव विशेष प्रयास कर जिले को देश स्तर पर पहचान दिलाई है. शहर का विकास हुआ तो ही बड़े पैमाने पर निवेश होकर औद्योगिक क्रांति होने में मदद होती है. इससे रोजगार निर्मिति होती है. इसलिए राज्य में शहर अच्छे होने चाहिए. इसलिए राज्य सरकार द्वारा शहरीकरण को बढ़ावा दिया है. शहर में सभी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध होने पर उद्योगक्षेत्र बढ़ने में मदद होती है. केंद्र और राज्य सरकार द्वारा इस बात को प्राथमिकता देकर बीड शहर के बुनियादी सुविधाओं के लिए 495 करोड़ रुपयों का निधि नगरपरिषद को दिया. पहले चरण में यह निधि दिया है. जल्द ही दूसरे चरण में भी निधि नगरपरिषद को उपलब्ध करवाया जाएगा, ऐसा मुख्यमंत्री श्री. फडणवीस ने कहा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2022 तक हर गरीब को घर देने का संकल्प किया है. राज्य सरकार द्वारा भी इस संकल्प पूर्ति के लिए पुरजोर मदद कर बेघरों को घर देने का काम किया जा रहा है. इस दृष्टि से ग्रामीण क्षेत्र में पांच लाख लोगो के लिए आगामी समय में घरों का निर्माण किया जाएगा. साथ ही शहर के झोपड़पट्टी में रहनेवाले गरीबों को पक्के घर देने के साथ साथ जमीन का मालिकाना अधिकार भी मिले, इसके लिए सरकार द्वारा निर्णय लिया गया है. स्मार्ट मिशन, अटल अमृत योजना, 14 वे वित्त आयोग के अंतर्गत योजना नगरविकास विभाग की ओर से विकास के लिए 21 हजार करोड़ रुपयों के निधि का प्रावधान किया है, ऐसा उन्होंने बताया.

बीड जिले को अकाल पीड़ित जिले के रूप में देखा जाता है. लेकिन राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी जलयुक्त शिवार योजना से यहां के किसानों को बड़े पैमाने पर लाभ हुआ है. साथ ही अकाल से खेती उत्पाद में घाटा हुआ है, उन किसानों को सरकार की ओर से आर्थिक मदद के रूप में 600 करोड़ रुपयों का अनुदान सरकार ने दिया है. यह अनुदान 15 मार्च तक किसानों के खाते में जमा करने की कार्यवाही संबंधित विभाग द्वारा तत्काल करने के निर्देश भी मुख्यमंत्री फडणवीस ने इस समय दिए.

श्रीमती पंकजा मुंडे ने कहा, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बीड शहर के विकास के लिए 495 करोड़ रुपयों का निधि दिया है. उनके नेतृत्व से सरकार पारदर्शकता के साथ जनता तक विकास लाया जा रहा है. साथ ही जिलावासियों के लिए महत्वपूर्ण रेल प्रकल्प मंजूर कर उसके लिए दो हजार 800 करोड़ रुपयों का प्रावधान भी किया है. बीड के विकास के लिए सरकार द्वारा हमेशा प्राथमिकता दी गई है. जिले में 950 किलोमीटर के राष्ट्रीय महामार्ग हो रहे हैं. मुख्यमंत्री ग्राम सडक योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में एक हजार 100 किलोमीटर के रास्ते हो रहे हैं. सड़क विकास से जिला समुर्द्धि की राह पर है. छत्रपति छत्रपती शिवाजी महाराज किसान सम्मान योजना के अंतर्गत जिले के किसानों को एक हजार 100 करोड़ रुपयों के कर्जमाफी का लाभ दिया गया है. साथ ही खरीफ में नुकसानभरपाई के रूप में सरकार की ओर से 616 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं. इसमें से 126 करोड़ रुपये प्राप्त भी हुए हैं. बीड जिला विकास की दिशा में जा रहा है, यहां की महिलाओं ने भी सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ लेकर अपना विकास करना चाहिए. महिला गुटों द्वारा सुमतीबाई सुकलीकर योजना का लाभ लेकर प्रगति करने का आवाहन भी श्रीमती मुंडे ने किया.

इस समय विधायक जयदत्त क्षीरसागर, विधायक सुरेश धस के भी भाषण हुए. सरकार विकास को प्राथमिकता दे रही हैं. बीड जिला अकाल पीड़ित है, इसलिए यहां किसानों को गेहूं और चावल के वितरण में बढ़ोतरी करने की मांग उन्होंने की.

इस समय पद्मश्री डॉ.वामन केंद्रे, सय्यद शब्बीर, कुश्तिगिर राहुल आवारे, क्रिकेटर सचिन धस आदि बीड के भूमिपुत्रों का सम्मान मुख्यमंत्री के हाथों किया गया. प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) मंगला डोंगरे, अनिता घायाल, आवाईबाई सरपते, सरला मोताले इन लाभार्थियों को प्रतिनिधिक स्वरूप में प्रमाणपत्रों का वितरण भी मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के हाथों हुआ.

सभा से पहले मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के हाथों नगरपरिषद सभागार को लोकनेता स्व. गोपीनाथ मुंडे सभागार के नाम से नामकरण किए आधारशिला का अनावरण किया गया. इस समय जनप्रतिनिधि, नगराध्यक्ष और नगरपरिषद के सभी नगरसेवक उपस्थित थे.

कार्यक्रम का प्रस्ताविक नगराध्यक्ष डॉ. भारतभूषण क्षीरसागर ने किया तथा आभार विनोद मुलुक ने व्यक्त किए.