पैसों के लिए पिता ने अपने बेटे को उतारा मौत के घाट

कलंब (यवतमाल) : यवतमाल इलाके में गांजे के नशे में धुत पिता ने पैसे देने से इनकार कर रहे अपने एकलौते बेटे की चाकू खोंप कर हत्या करने का मामला सामने आया है. मृतक का नाम मधुकर दादाराव गाडेकर (35 ) है.

जानकारी के मुताबिक, दादाराव गोविंद गाडेकर (65) कलंब तहसील में ग्राम छोटा पीढ़ा का निवासी है गोविंद को पीढा में ही विरासत में मिली उसकी पांच एकड़ खेती है. गोविंद को गांजे और शराब की लत होने की वजह से उसका बेटा मधुकर ही खेतीबाड़ी कर रहा था. इस वर्ष मधुकर की मेहनत से खेतों में तुअर का अच्छा उत्पादन हुआ. कुछ दिन पहले ही उसने कलंब शहर में स्थित कृषि उपज मंडी में नाफेड को यह तुअर बेची थी. दो दिन पहले गोविंद के बैंक खाते में नाफेड की ओर से तुअर की बकाया राशि का धनादेश जमा करवाया गया. इस बात की जानकारी मिलते ही मधुकर के मन में भय पैदा हो गया कि, कहीं उसका पिता दादाराव यह रुपए नशे में न उड़ा दे.

बताया जाता है की , 5 मई की शाम गोविंद जब गांजे के नशे में धुत होकर घर आया तो मधुकर ने उससे 10 हजार रु. मांगे. गोविंद ने उसे रु. देने से मना कर दिया. साथ ही इन रुपयों को लेकर विवाद भी शुरू कर दिया. देखते ही देखते विवाद इस कदर बढ़ गया कि, गोविंद ने घर के भीतर जाकर चाकू ले आया और उसने मधुकर के सीने और पेट पर चाकू से तीन वार कर दिए. जिससे वह बुरी तरह घायल हो गया. और खून से लथपथ मधुकर जमीन पर गिर पड़ा. यह देख मधुकर के परिजनों ने शोर मचाना शुरू किया. उनकी चीखें सुनकर पड़ोसी उनके घर की और दौड़े. वहां के स्थानीय लोगों ने ही मधुकर को यवतमाल के जिला सरकारी अस्पताल भर्ती किया. जहां उसकी मौत हो गई.
पुलिस ने इस मामले की शिकायत दर्ज कर इसकी अधिक जांच शुरू कर दी है.