आत्मदहन की चेतावनी के बाद, पुणे-गुंडेगाव बस सेवा फिर शुरू

अहमदनगर : ‘महाराष्ट्राचे मांझी’के रूप में पहचाने जाने वाले ज्येष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता राजाराम भापकर गुरुजी (88) ने जिले में गुंडेगाव- पुणे के दौरान शुरू बस सेवा फिर शुरू ना किए जाने पर आत्महत्या की धमकी दी थी। जिसके बाद आज फिर बस सेवा शुरू कर दी गई।

गुरूजी ने जीवन भर की जमा पूंजी तथा अपने बलबूते पर पहाड़ो को काटकर गांववासियों के लिए रास्ता तैयार किया है। एसटी महामंडल से लाखों मिन्नतों के बाद गुंडेगाव से पुणे बस सेवा शुरू की गई। परंतु बिते 15 दिनों से बिना किसी जानकारी के बस सेवा बंद कर दी गई थी। जिससे ग्रामवासियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था।

भापकर गुरूजी ने महामंडल से मांग की थी कि जल्द से जल्द से यदि यह सेवा शुरू की नाहीं की जाती तो वे ‘रास्ता रोको आंदोलन’ तथा जरूरत पड़ने पर आत्मदहन करेंगे। गुरूजी की चेतावनी के बाद एसटी महामंडल ने बससेवा शुरू करने के आश्वासन दिया था। जिसके बाद आज यह सेवा फिर शुरू कर दी गई है।