भंडारा: प्रीति बारिया मामले में दो आरोपियों को मौत की सजा

भंडारा : भंडारा के प्रीती बरिया हत्या के मामले में दोषी आमिर शेख और सचिन राउत को भंडारा जिला सत्र अदालत ने फांसी की सजा सुनाई है। मुख्य न्यायाधीश संजय देशमुख ने अंतिम सुनवाई करते समय आज आरोपियों को फांसी की सजा दी है।

तीन साल पहले, 30 जुलाई 2015 के दिन एसी की मरम्मत करने के बहाने आमिर शेख और सचिन राउत ने रात आठ बजे तकिया वार्ड के रुपेश बारिया के घर में प्रवेश किया। और कुल तीन लोगो पर हमला किया। इस हमले में रुपेश बरिया की पत्नी प्रीति बारिया के सर पर हतौड़े से वार करने पर उनकी जगह पर ही मौत हुई। इस समय उनके बेटे भव्य बारिया गंभीर रूप से घायल हुए थे। इन चोरों ने बारिया के घर से सोने-चांदी के गहने और 3 लाख 20 हजार रुपये चुराए थे।

बरिया के घर में चोरी करने से पहले, शेख और राउत ने 2 बजे म्हाडा कॉलोनी में रविंद्र शिंदे का घर लुटा था। शिंदे के घर में भी वह ऐसी की मरम्मत के बहाने आये थे। घर में अश्विनी अकेली को देखकर शेख और राउत ने अश्विनी पर हमला किया और गहने, लैपटॉप और एटीएम चुराया था।

आरोपी कैसे मिले ?

इस मामले में आरोपी आमिर शेख और सचिन राउत ने रविंद्र शिंदे के घर से एटीएम चुराया था। उन्होंने इस कार्ड से पैसे निकालने की कोशिश की थी। इसके द्वारा, पुलिस ने उनके लोकेशन का पता लगाकर उन्हें गिरफ्तार किया।

पुलिस ने शेख और राउत के खिलाफ धारा 302, 307, 397 और 452 के तहत अपराध दर्ज किये थे। इस मामले में 26 गवाहों की जांच की गई। इसके अलावा जब्त हथौड़ों के आधार पर आरोपियों पर अपराध साबित हुआ।

आज इस मामले की आखिरी सुनवाई में, जिला न्यायालय ने दोनो आपराधियों को मौत की सजा सुनाई है।