महापौर के सामने अतिरिक्त आयुक्त की पिटाई

2019-02-11-2-1

पुणे : महापौर मुक्त तिलक के सामने पार्षदों के कार्यकर्ता ने शहर के अतिरिक्त आयुक्त राजेंद्र निंबाळकर की पिटाई कर दी. घटना तब हुए जब कार्यकर्ता जेलभराव की समस्या की निजात की मांग कर रहे थे. महानगर पालिका में भरे दोपहर में हुई घटना से राजनितिक संकट आने की सम्भावना है.

एनसीपी और कांग्रेस के कार्यकर्ता महापौर कार्यालय में आंदोलन कर रहे थे. उन्होंने जल भराव की समस्या को लेकर भाजपा और अधिकारियो के ऊपर कार्यवाही नहीं करने का आरोप लगाया. इस बीच कांग्रेस और राष्ट्रवादी के नाटो ने अधिकारियो के ऊपर कार्यवाही करने मांग की इसी बीच कार्यकर्ता जिन लोगों को उनके द्वारा खुलासा निविदा नहीं मिली, वे अधिकारी चोर हैं, इस बात की घोषणा भी कार्यकर्ताओं ने की. अतिरिक्त आयुक्त निम्बालकर बैठक में उपस्थित थे.

कॉर्पोरेटर अरविंद शिंदे और रवींद्र ढेंगेकर ने निंबालकर से जलजनित मुद्दों के बारे में कुछ सवाल पूछे. उनके द्वारा दिए गए उत्तरों की संतुष्टि की कमी के कारण विवाद उत्पन्न हुआ.
इस समय, नगरसेवकों के साथ मौजूद कार्यकर्ता निंबालकर की जमकर पिटाई करने लगे. कांग्रेस के नगरसेवक रवींद्र ढेंगकर ने कहा कि अधिकारी ‘चोर’ हैं.

जिसपर अतिरिक्त निंबालकर ने कहा ” हम यह सुन नहीं पाए हैं लेकिन आपके पास वही है जो आप चाहते हैं.” अतिरिक्त आयुक्त के बयान पर महापौर ने कहा “अतिरिक्त आयुक्त का बयान सही नहीं है.और वह अगले 24 घंटों में 24 घंटे में पूछताछ करेंगे और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे.”