40 लाख रुपए की लूट पर पुलिस ने मांगी 4 गांवों से हेल्प, फिर हुआ कुछ ऐसा

हिंगोली: बैंक अधिकारियों की जीप से 40 लाख रुपए लूटकर फरार होने वाले छह डकैतों में से तीन को पुलिस ने बुधवार शाम चार गांवों के ग्रामीणों की सहायता से महज दो घंटे में गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों से 39 लाख रुपए भी बरामद हो चुके हैं। पुलिस ने गांववालों से मांगी हेल्प..
– जिले के पुलिस अधीक्षक अशोक मोराले ने बताया कि, बुधवार दोपहर एक जीप में 40 लाख रुपए रखकर स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद की सेनगांव शहर शाखा तक लाया गया था। जीप बैंक के बाहर खड़ी थी।
– बैंक कैशियर अश्विनी जायभाये और एक अन्य कर्मचारी गणेश चंदेल रुपयों से भरी पेटी जीप से नीचे उतार रहे थे, तभी बैंक के समीप पहले से मौजूद छह डकैतों ने दोनों कर्मचारियों के हाथ से पेटी छीनी और एक कार में रखकर फरार हो गए।
– बैंक कर्मचारियों ने तत्काल सेनगांव पुलिस को घटना की सूचना दी। इसके बाद इलाके की नाकाबंदी करवाई गई।
– पुलिस ने इन डकैतों को पकड़ने के लिए आजेगांव, म्हालशी, शेगांव खोडके और खैरखेड़ा गांव के सरपंचों से भी सहायता मांगी।
– इस बीच, आजेगांव के ग्रामीणों ने एक संदिग्ध कार को देखकर उसका पीछा किया। गांववालों को पीछे आते देख ड्राइवर तेजी से कार भगाने का प्रयास करने लगा।
– इसके बाद तीन अन्य गांव के ग्रामीण भी वहां पहुंच गए और सभी ने लुटेरों की कार को घेर लिया।
ऐसे पकड़े गए लुटेरे
– अपने आप को घिरा देख लुटेरे कार से निकल कर खेतों में भाग गए। उन्होंने गांववालों पर दो बार पिस्तौल से फायर भी किया।
– गनीमत यह रही कि इसमें कोई घायल नहीं हुआ। लेकिन इसका फायदा उठाकर तीन डकैत फरार होने में कामयाब हो गए।
– गोलियों से न डरते हुए गांववालों ने तीन लुटेरों को धर दबोचा और उनकी जमकर धुलाई की। इसके बाद उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया।
– पुलिस ने पकड़े गए डकैतों की निशानदेही पर 39 लाख रुपए बरामद कर लिए।
– पुलिस ने  जनार्दन वाघमारे (35), राजेंद्र सिंह बावरी (25) और बादशाह टाक (30) को गिरफ्तार कर लिया है।
– अन्य तीनों डकैतों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की एक टीम पड़ोसी जिलों में भेजी गई है।