शिवसेना के स्वतंत्र रूप से चुनाव लड़ने के फैसले से टेंशन हुआ दूर – भाजप मंत्री

Vishnu-sawara

शिर्डी : सत्ता में बैठकर सरकार के विरोध में शिवसेना की ओर से कार्य किया जा रहा है। लेकिन अब भाजपा से अलग होकर चुनाव लड़ने का जो फैसला शिवसेना की ओर से लिया गया है उससे अब भाजप का टेंशन दूर हो गया है, ऐसी बात भाजप के नेता और राज्य के आदिवासी विकास मंत्री विष्णु सावरा इन्होने यशवंतराव भांगरे आदिवासी सामाजिक प्रतिष्ठान की ओर से आयोजित आदिवासी किसान सम्मेलन के दौरान कई।

अहमदनगर जिले के अकोले में यशवंतराव भांगरे आदिवासी सामाजिक प्रतिष्ठान की ओर से आयोजित आदिवासी किसान सम्मेलन का आयोजन किया गया था। जिस दौरान विष्णु सावरे इनके हस्ते भांगरे स्मृति पुरस्कार दिया गया।

शिवसेना ये सत्ता में रहकर भाजपा विरोधी कार्य कर रही है। पिछले चुनाव में उम्मीदवारी फ्रॉम भरने के दरमियान शिवसने साथ गठबंधन टूट गया था। लेकिन इस बार शिवसेना ने अलग होकर चुनाव लड़ने का जो निर्णय लिया है उससे भाजप का टेंशन दूर हो गया है ऐसी बात सावरा इन्होने की।

अकोले तहसील के विधायक मधुकर पिचड इतने सालों से आदिवासी मंत्री थे फिर भी उन्होंने किसी भी तरह का विकास नहीं किया। पिचड़ मेरे मित्र है लेकिन राजनीति के क्षेत्र में उनकी और मेरी किसी भी तरह कोई मित्रता नहीं है। इतने सालो से वो मंत्री होने के बावजूद भी उन्होंने अपनी तहसील का विकास नहीं किया जिस कारन इस तहसील का हाल बेहाल है ऐसी बात उन्होंने कई।

आगे बोलते हुए सावरा ने कहा की इस तहसील को अब हम दत्तक ले रहे है। अब इस तहसील का विकास किया जायेगा और सभी जरुरी सुविधाएं सबसे पहले इस तहसील को दी जाएगी।