‘कुर्सी’ के साथ ही स्मशान जाएं, ऐसी इच्छा होती है नेताओं की – अन्ना हजारे

Anna-hazare

मुंबई : कुछ नेताओं को कुर्सी के साथ स्मशान घाट जाने की इच्छा रहती है. यह कहना है वरिष्ठ समाजसेवक अन्ना हजारे का.

कोपरगांव नगरपालिका के कार्यक्रम के दौरान अन्ना हजारे पंहुचे थे. इसी दौरान वे नेताओं की प्रवृति पर तंज कसते हुए यह बोल पड़े. अन्ना हजारे ने कहा कि सारे इंसान ठीक होते हैं, लेकिन राजनीति में जाने के बाद कुर्सी की चाहत बढ़ जाती है और उनमें बदलाव आ जाता है. इसी बात पर अन्ना ने कहा कि कुछ नेताओं को ऐसी इच्छा होने लगती है कि वे स्मशान घाट भी कुर्सी के साथ ही जाएं.

कोपरगांव नगरपालिका के नगराध्यक्ष पद के निर्दलीय उम्मीदवार विजय वहदने के सत्कार समारोह में अन्ना हजारे पंहुचे हुए थे, इस दौरान राजनेताओं पर अन्ना ने तंज कस दिया.