अगली बार कृषि विकास दर छह प्रतिशत से ज्यादा होने की उम्मीद : गड़करी

gadkari
File image

नई दिल्ली : वित्त मंत्री अरण जेटली द्वारा आज पेश किए गए आम बजट को देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने वाला और दीर्घकालिक लाभ पहुंचाने वाला करार देते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने आज कहा कि इससे ग्रामीण क्षेत्रों में समृद्धि आएगी और अगली बार देश की कृषि विकास दर कम से कम छह प्रतिशत से उपर पहुंचने की उम्मीद है.

लोकसभा में बजट पेश किये जाने के बाद प्रतिक्रिया देते हुए केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री गडकरी ने कहा कि वित्त मंत्री द्वारा पेश यह बजट गांव, गरीब, किसान, मजदूर और कृषि सिंचाई के लिए है.

उन्होंने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह ग्रामीण और कृषि क्षेत्र के लिए अच्छा बजट है. इससे गांव समृद्ध होंगे. बुनियादी संरचना के लिए भी वित्त मंत्री का बड़ा योगदान है.’’ गडकरी के मुताबिक, ‘‘हमारी कृषि विकास दर 4.2 प्रतिशत है, जिसकी कभी चर्चा नहीं होती. मध्य प्रदेश की कृषि विकास दर इस बार 20 प्रतिशत से उपर गई है. मुझे लगता है कि अगली बार देश की कृषि विकास दर कम से कम छह प्रतिशत से उपर जाएगी.’’ उन्होंने कहा कि सरकार के नोटबंदी के फैसले के बाद इस बजट में ईमानदार लोगों के लिए आयकर सीमा में छूट बढ़ाई गई.

उन्होंने कहा, ‘‘यह बात भी सिद्ध हो गई है कि सरकार का राजस्व बढ़ा है. बैंकिंग के कारण हर व्यक्ति को डिजिटल लेनदेन करना होगा. अर्थव्यवस्था मजबूत होगी. कालाधन और समांतर अथव्यवस्था कमजोर होगी. कर संग्रह बढ़ेगा.’’

गड़करी ने कहा कि 34.4 प्रतिशत राजस्व वृद्धि हिंदुस्तान के इतिहास में बहुत बड़ी क्रांति है, जिससे हम धीरे धीरे पारदर्शिता, भ्रष्टाचार मुक्ति और कालेधन से मुक्ति की ओर जा रहे हैं. नंबर एक के लेनदेन की तरफ जा रहे हैं.

राजनीतिक चंदे को लेकर बजट में किए गए प्रस्ताव पर केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘इससे राजनीतिक चंदे में पारदर्शिता आएगी. नंबर दो का लेनदेन रुकेगा. लोकतंत्र मजबूत होगा. सभी राजनीतिक दलों को इस पर समर्थन देना चाहिए.